ऋषि सुनक

गर्व की बात है, एक भारतवंशी यूनाइटेड किंगडम का प्रधानमंत्री बन गया। क्या आप जानते हैं? जी हां! ऋषि सुनक २५ अक्टूबर, २०२२ को यूनाइटेड किंगडम के प्रधानमंत्री बन गए हैं।

परिचय…

ऋषि सुनक का जन्म १२ मई, १९८० को इंग्लैंड के हैम्पशायर अंतर्गत साउथैम्प्टन के रहने वाले श्री यशवीर सुनक जी और माता श्रीमती उषा सुनक जी के घर में हुआ था। श्री सुनक जी अपने तीनों भाई बहनों में सबसे बड़े हैं। उनके दादा-दादी ब्रिटिश इंडिया के पंजाब प्रांत के रहने वाले थे, जो आज़ादी के बाद नए·नए बने पाकिस्तान से आजाद भारत आने के बजाय पूर्वी अफ्रीका में जा कर बस गए, जहां से वर्ष १९६० के दशक में अपने बच्चों के साथ यूके चले गए थे। श्री सुनक ने अगस्त २००९ में इंफोसिस के संस्थापक, एन.आर. नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता मूर्ति से शादी की, जिनसे उनकी मुलाकात पढ़ाई के दौरान स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में हुई थी। उनसे उन्हें दो पुत्रियों के पिता बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।

शिक्षा…

ऋषि की पढ़ाई विनचेस्टर कॉलेज से हुई। उसके बाद उन्होंने स्नातक की पढ़ाई ऑक्सफोर्ड के लिंकन कॉलेज से दर्शन शास्त्र, राजनीति शास्त्र और अर्थशास्त्र में फर्स्ट क्लास, फर्स्ट के साथ पास की, तथा वर्ष २००६ में उन्होंने एमबीए की डिग्री स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से प्राप्त की।

राजनैतिक जीवन…

ऋषि सुनक वर्ष २०१५ में पहली बार संसद यॉर्कशर के रिचमंड से सांसद बने। यह वह समय था, जब ब्रेग्जिट का समर्थन उनके साथ बढ़ा, जिससे पार्टी में उनका कद लगातार बढ़ने लग गया।

ऋषि सुनक ने तत्कालीन ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे की सरकार के संसदीय अवर सचिव के रूप में कार्य किया। थेरेसा मे के इस्तीफा देने के बाद, सनक ने बोरिस जॉनसन के कंजरवेटिव नेता बनने के अभियान का समर्थक किया। जॉनसन ने प्रधान मंत्री नियुक्त होने के बाद, सनक को ट्रेजरी का मुख्य सचिव नियुक्त किया गया। चांसलर के रूप में, सुनक ने यूनाइटेड किंगडम में कोविड-१९ महामारी के आर्थिक प्रभाव के मद्देनजर सरकार की आर्थिक नीति पर प्रमुखता से काम किया।

५ जुलाई, २०२२ को अपने त्याग पत्र में जॉनसन के साथ अपनी आर्थिक नीति के मतभेदों का हवाला देते हुए सुनक ने चांसलर के पद से इस्तीफा दे दिया। श्री सुनक के साथ स्वास्थ्य सचिव जाविद ने भी इस्तीफा दे दिया, जिससे एक सरकारी संकट उत्पन्न हो गया, जो जॉनसन के प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे का कारण बना।

विवाद…

ब्रिटेन के जिस पार्टीगेट स्कैंडल की वजह से बोरिस जॉनसन की बेहद किरकिरी हुई थी, जिसकी आंच ऋषि पर भी पड़ी। उनपर भी पार्टीगेट स्कैंडल का अर्थदण्ड लगाया गया। उन्हें फिक्स्ड पेनल्टी नोटिस जारी किया गया था। इस पार्टी की तस्वीरें और कुछ ईमेल लीक होने के पश्चात मामला गरमा गया था। यह ऐसी घटना थी, जिसके पश्चात सुनक की लोकप्रियता में गिरावट आने लगी।

एक विवाद उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति के साथ भी हुआ। हुआ यह कि ऋषि सुनक की पत्नी की संपत्ति क्वीन एलिजाबेथ से भी ज्यादा थी। इसके पीछे का कारण सभी जानते हैं, अक्षता मूर्ति भारत के दिग्गज कारोबारी व इंफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति की बेटी हैं। उनका इन्फोसिस में शेयर है। ऐसे में सिर्फ डिविडेंट से उनकी हर साल अरबों की कमाई होती है, जो अंग्रजों को पच नहीं रहा था। पहली बर जब सुनक चुनाव लड़ रहे थे तब से ही उनकी पत्नी की कमाई को लेकर विवाद हो रहा था। साल २०२२ में उनको इन्फोसिस के शेयर से १२६.६१ करोड़ रुपये का लाभ मिला। कंपनी में उनका ०.९३ पर्सेंट का शेयर है। मंगलवार को शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक अक्षता मूर्ति के शेयरों की कीमत ५,९५६ करोड़ रुपये है।

प्रधानमंत्री…

ब्रिटेन में कुल सांसदों की संख्या ३५७ है, जबकि प्रधानमंत्री बनने के लिए १०० सांसदों का समर्थन होना जरूरी होता है। ये ३५७ सांसद उम्मीदवार को ऑनलाइन वोटिंग करके पार्टी लीडर और प्रधानमंत्री चुनते हैं, जिसमें श्री सुनक के पक्ष में २०० सांसदों ने वोट दिया। वहीं पेनी मॉरडॉन्ट को सिर्फ २६ सांसदों का ही समर्थन मिल पाया।

दिलचस्प तथ्य…

१. ऋषि सुनक ने संसद में भगवद गीता पर यॉर्कशायर से सांसद के रूप में शपथ ली। ऐसा करने वाले वह ब्रिटेन के पहले सांसद थे।

२. बोरिस जॉनसन के नेतृत्व में राजकोष के चांसलर के रूप में, ऋषि सुनक ने डाउनिंग स्ट्रीट पर अपने आवास पर दिवाली के दीये जलाए।

३. ऋषि सुनक अक्सर अपनी विरासत के बारे में बात करते हैं और यह बताते हैं कि कैसे उनके परिवार ने उन्हें हिंदू धर्म के मूल्यों और संस्कृति के बारे में बताया है।

४. ऋषि सुनक अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ लेकर अक्सर अपने ससुराल वालों से मिलने बेंगलुरु आते रहते हैं, जो उन्हें भारत से जोड़े रहता है।

५. ऋषि ने एक बयान साझा किया था कि श्रीमद् भागवत गीता तनावपूर्ण स्थितियों के दौरान उन्हें बचाती है और उन्हें कर्तव्यपरायण होने की याद दिलाती है।

६. ऋषि सुनक की कुल संपत्ति ७०० मिलियन पाउंड यानी तकरीबन ६७ अरब रुपए से कहीं अधिक है। यॉर्कशायर में एक हवेली के मालिक होने के अलावा, ऋषि और उनकी पत्नी अक्षता के पास मध्य लंदन के केंसिंग्टन में भी एक संपत्ति है।

७. फिट रहने के लिए ऋषि सुनक क्रिकेट खेलना पसंद करते हैं।

अश्विनी रायhttp://shoot2pen.in
माताजी :- श्रीमती इंदु राय पिताजी :- श्री गिरिजा राय पता :- ग्राम - मांगोडेहरी, डाक- खीरी, जिला - बक्सर (बिहार) पिन - ८०२१२८ शिक्षा :- वाणिज्य स्नातक, एम.ए. संप्रत्ति :- किसान, लेखक पुस्तकें :- १. एकल प्रकाशित पुस्तक... बिहार - एक आईने की नजर से प्रकाशन के इंतजार में... ये उन दिनों की बात है, आर्यन, राम मंदिर, आपातकाल, जीवननामा - 12 खंड, दक्षिण भारत की यात्रा, महाभारत- वैज्ञानिक शोध, आदि। २. प्रकाशित साझा संग्रह... पेनिंग थॉट्स, अंजुली रंग भरी, ब्लौस्सौम ऑफ वर्ड्स, उजेस, हिन्दी साहित्य और राष्ट्रवाद, गंगा गीत माला (भोजपुरी), राम कथा के विविध आयाम, अलविदा कोरोना, एकाक्ष आदि। साथ ही पत्र पत्रिकाओं, ब्लॉग आदि में लिखना। सम्मान/पुरस्कार :- १. सितम्बर, २०१८ में मध्यप्रदेश सरकार द्वारा विश्व भर के विद्वतजनों के साथ तीन दिनों तक चलने वाले साहित्योत्त्सव में सम्मान। २. २५ नवम्बर २०१८ को The Indian Awaz 100 inspiring authors of India की तरफ से सम्मानित। ३. २६ जनवरी, २०१९ को The Sprit Mania के द्वारा सम्मानित। ४. ०३ फरवरी, २०१९, Literoma Publishing Services की तरफ से हिन्दी के विकास के लिए सम्मानित। ५. १८ फरवरी २०१९, भोजपुरी विकास न्यास द्वारा सम्मानित। ६. ३१ मार्च, २०१९, स्वामी विवेकानन्द एक्सिलेन्सि अवार्ड (खेल एवं युवा मंत्रालय भारत सरकार), कोलकाता। ७. २३ नवंबर, २०१९ को अयोध्या शोध संस्थान, संस्कृति विभाग, अयोध्या, उत्तरप्रदेश एवं साहित्य संचय फाउंडेशन, दिल्ली के साझा आयोजन में सम्मानित। ८. The Spirit Mania द्वारा TSM POPULAR AUTHOR AWARD 2K19 के लिए सम्मानित। ९. २२ दिसंबर, २०१९ को बक्सर हिन्दी साहित्य सम्मेलन, बक्सर द्वारा सम्मानित। १०. अक्टूबर, २०२० में श्री नर्मदा प्रकाशन द्वारा काव्य शिरोमणि सम्मान। आदि। हिन्दी एवं भोजपुरी भाषा के प्रति समर्पित कार्यों के लिए छोटे बड़े विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं द्वारा सम्मानित। संस्थाओं से जुड़ाव :- १. जिला अर्थ मंत्री, बक्सर हिंदी साहित्य सम्मेलन, बक्सर बिहार। बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन, पटना से सम्बद्ध। २. राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य सह न्यासी, भोजपुरी विकास न्यास, बक्सर। ३. जिला कमिटी सदस्य, बक्सर। भोजपुरी साहित्य विकास मंच, कलकत्ता। ४. सदस्य, राष्ट्रवादी लेखक संघ ५. जिला महामंत्री, बक्सर। अखिल भारतीय साहित्य परिषद। ६. सदस्य, राष्ट्रीय संचार माध्यम परिषद। ईमेल :- ashwinirai1980@gmail.com ब्लॉग :- shoot2pen.in

Similar Articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisment

Instagram

Most Popular

अश्वघोष

कहा जाता है कि मगध दरबार के महाकवि व दर्शनीय अश्वघोष को कुषाण नरेश कनिष्क ने मगध पर आक्रमण कर अपने साथ पुरुषपुर यानी...

आर्यभट

आज हम बात करने वाले हैं, प्राचीन भारत के एक महान ज्योतिषविद् और गणितज्ञ आर्यभट के बारे में, जिन्होंने अपनी महान ज्योतिषीय ग्रंथ आर्यभटीय...

श्री ज्योतिरीश्वर ठाकुर

मैथिली व संस्कृत भाषा के मूर्धन्य कवि, लेखक, नाटककार एवम संगीतकार श्री ज्योतिरीश्वर ठाकुर या कविशेखराचार्य ज्योतिरीश्वर ठाकुर को वर्ण रत्नाकर के लिए जाना...