Category: आलेख

पितृ कुण्ड

पितृ कुण्ड देव के देव महादेव की नगरी काशी में स्थित है, जिसकी महिमा का बखान महाभारत में जलदान की महिमा का वर्णन करते समय किया गया है। संसार में जल से...

क्रीं कुण्ड

बाबा की नगरी काशी अघोर साधना के केन्द्र के रूप में भी जाना जाता है। काशी के शिवाला मुहल्ले में स्थित है एक अघोर साधना का केन्द्र ‘क्रीं कुण्ड’। इसका मुख्य द्वार...

कुरुक्षेत्र कुण्ड, काशी

अस्सी से पंच मंदिर होते हुए रवीन्द्रपुरी कालोनी जाने वाले मार्ग पर दाहिनी ओर स्थित कुरुक्षेत्र कुण्ड के बारे में ऐसी मान्यता है कि यह कुण्ड हरियाणा राज्य के पानीपत स्थित कुरुक्षेत्र...

बकरिया कुण्ड

बकरिया कुण्ड काशी के अलईपुर क्षेत्र स्थित बकरिया कुण्ड मुहल्ले में है जिसे आज बोल-चाल की भाषा में बकरिया कुण्ड के नाम से जाना जाता है। इसको उत्तरार्क या बर्करी कुण्ड भी...

बेनिया कुण्ड, काशी

बेनिया कुण्ड काशी में स्थित है। आज से कई हजार वर्ष पूर्व काशी का बेणी तीर्थ था, सम्प्रति बेनिया बाग के विशाल मैदान के एक छोर का कूड़ा-करकट व बड़ी-बड़ी जंगली घास...

सनातन मंदिर

सनातन मंदिर का मूल स्थान, भगवानानंदजी, परमहंस आश्रम के अंदर है, जो कि सामने घाट, काशी में स्थित है। आध्यात्मिक केंद्र... काशी में सनातन संस्कृति का यह प्रमुख आध्यात्मिक केंद्र है। बड़े लंबे आंगन...

शनि मंदिर

काशी स्थित रानी भवानी गली में स्थित है, अति प्राचीन शनि देव का मंदिर। वैसे शनि देव का यह प्राचीन मंदिर काफी वक्त से अपने जीर्णोद्धार की राह देख रहा था, जो...

बालाजी मंदिर

काशी क्षेत्र में स्थित वैष्णव मंदिरों में से एक है बालाजी मंदिर। इस प्राचीन जीवंत शहर में कल्पनाओं से अधिक मंदिर विद्यमान हैं। इन मंदिरों से निकलने वाले मंत्रों, घण्ट-घड़ियालों की आवाज़...

Follow us

22,044FansLike
2,506FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Instagram

Most Popular

स्वामिनारायण अक्षरधाम मन्दिर

विशाल भूभाग में फैला दुनिया का सबसे बड़ा मन्दिर, स्वामिनारायण अक्षरधाम मन्दिर है, जो ज्योतिर्धर भगवान स्वामिनारायण की पुण्य स्मृति में बनवाया गया है।...

रामकटोरा कुण्ड

रामकटोरा कुण्ड काशी के जगतगंज क्षेत्र में सड़क किनारे रामकटोरा कुण्ड स्थित है। इसी कुण्ड के नाम पर ही मोहल्ले का नाम रामकटोरा पड़ा।...

मातृ कुण्ड

मातृ कुण्ड, देवाधि देव महादेव के त्रिशूल पर अवस्थित अति प्राचीन नगरी काशी के लल्लापुरा में पितृकुण्ड के पहले किसी जमाने में स्थित था। विडंबना... विडंबना...