Category: आलेख

संत रविदास मंदिर

संत रविदास के नाम पर काशी में बीएचयू के पीछे डाफी क्षेत्र में एक बेहद ही खूबसूरत मंदिर है। सफेद संगमरमर से निर्मित इस मंदिर का गुम्बद सुनहरे रंग का है जो...

गुरुधाम मंदिर

प्राचीन नगरी काशी स्थित भेलूपुर के निकट एक प्रसिद्ध मंदिर है गुरुधाम मंदिर, जो मिश्रित शैली में निर्मित है। निर्माण... इस मंदिर का निर्माण बंगाल के राजा जयनारायण घोषाल ने अपने गुरु के निमित्त...

कर्दमेश्वर महादेव मंदिर

काशी भारत ही नहीं बल्कि विश्व की प्राचीनतम और सांस्कृतिक नगरी है, काशी ही वह स्थान है जहां प्रत्येक देवी देवताओं की पूजा की जाती है, परंतु यहाँ के नगर वासियों के...

विंध्यवासिनी मंदिर

मां विंध्यवासिनी को योगमाया, महामाया और एकनामशा के रूप में भी पूजा जाता है और जिनका स्थान विंध्यवासिनी मंदिर है। मार्कंडेय पुराण के अनुसार महिषासुर को मारने के लिए इन्होंने अवतार लिया...

लक्ष्मी कुण्ड मंदिर

पौराणिक आख्यान के अनुसार काशी धर्म क्षेत्र के रूप में विद्यमान था, उस समय वनों से आच्छादित यह क्षेत्र ‘आनन्द कानन’ कहलाता था तथा ताल, तलैया, पोखरे, सरोवर व जलाशय की भरमार...

विशालाक्षी मंदिर

विशालाक्षी शक्तिपीठ या काशी विशालाक्षी मंदिर प्रसिद्ध ५१ शक्तिपीठों में से एक है। यह मन्दिर विश्व के प्राचीनतम नगरों में से अति प्राचीन नगरी काशी में है, जो काशी विश्‍वनाथ मंदिर से...

दुर्गा कुंड मंदिर

दुर्गा कुंड मंदिर काशी के दिव्य और प्राचीन मंदिरों में से एक है। जैसा नाम से ही जान पड़ता है कि यह मंदिर मां दुर्गा को समर्पित है। नवरात्रि के समय इस...

साक्षी गणेश मंदिर

साक्षी गणेश मंदिर, काशी में स्थित है। पंचकोशी यात्रा को पूरा कर तीर्थयात्री साक्षी गणेश मंदिर को देखने जरुर आते हैं। इस मंदिर के दर्शन के बाद ही वे अपनी यात्रा को...

Follow us

22,044FansLike
2,506FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Instagram

Most Popular

स्वामिनारायण अक्षरधाम मन्दिर

विशाल भूभाग में फैला दुनिया का सबसे बड़ा मन्दिर, स्वामिनारायण अक्षरधाम मन्दिर है, जो ज्योतिर्धर भगवान स्वामिनारायण की पुण्य स्मृति में बनवाया गया है।...

रामकटोरा कुण्ड

रामकटोरा कुण्ड काशी के जगतगंज क्षेत्र में सड़क किनारे रामकटोरा कुण्ड स्थित है। इसी कुण्ड के नाम पर ही मोहल्ले का नाम रामकटोरा पड़ा।...

मातृ कुण्ड

मातृ कुण्ड, देवाधि देव महादेव के त्रिशूल पर अवस्थित अति प्राचीन नगरी काशी के लल्लापुरा में पितृकुण्ड के पहले किसी जमाने में स्थित था। विडंबना... विडंबना...