July 23, 2024

आज हम बात करने वाले हैं, हिन्दी साहित्य के प्रतिष्ठित पत्रकार, कहानीकार, उपन्यासकार व समालोचक पंकज बिष्ट जी के बारे में, जिन्होंने दिल्ली से प्रकाशित ‘समयांतर’ नामक हिन्दी साहित्य की मासिक पत्रिका का सम्पादन व संचालन भी किया है। अब विस्तार पूर्वक…

परिचय…

श्री पंकज बिष्ट का जन्म २० फरवरी, १९४६ को महाराष्ट्र के मुम्बई में हुआ था। वे मूलत: उत्तराखण्ड के कुमांऊँ क्षेत्र के अन्तर्गत अल्मोड़ा जिले में स्थित नौगाँव नामक गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने आगरा विश्वविद्यालय से वृष १९६६ में स्नातक करने के पश्चात वर्ष १९६९ में मेरठ विश्वविद्यालय से अंग्रेज़ी साहित्य में एम.ए. किया। उन्हें बचापन से ही लेखनी में हांथ आजमाते रहे हैं।

व्यावसायिक जीवन…

श्री बिष्ट के व्यावसायिक जीवन का आरम्भ वर्ष १९६९ में भारत सरकार के सूचना सेवा विभाग से हुआ। वह भारत सरकार के सूचना सेवा के प्रकाशन विभाग में उपसंपादक व सहायक संपादक, योजना के अंग्रेजी सहायक सम्पादक, आकाशवाणी की समाचार सेवा में सहायक समाचार संपादक व संवाददाता, भारत सरकार के फिल्म्स डिवीजन में संवाद-लेखन के रूप में कार्यरत रहे, आकाशवाणी पत्रिका का संपादन किया तथा भारत सरकार के प्रकाशन विभाग की ‘आजकल’ नामक हिन्दी पत्रिका के साथ संपादक के तौर पर कार्य किया।

कृतियाँ…

१. कहानी संग्रह : अंधेरे से असगर वजाहत के साथ, बच्चे गवाह नहीं हो सकते, पंद्रह जमा पच्चीस, टुंड्रा प्रदेश तथा अन्य कहानियाँ, संकलित कहानियाँ (राष्ट्रीय पुस्तक न्यास, भारत द्वारा सम्पादित)

२. लेख संग्रह : हिंदी का पक्ष, कुछ सवाल कुछ जवाब, शब्दों के घर

३. बाल उपन्‍यास : गोलू और भोलू

४. उपन्यास : लेकिन दरवाज़ा, उस चिड़िया का नाम, पंखवाली नाव, शताब्दी से शेष

About Author

Leave a Reply