July 22, 2024

प्रतिस्पर्धा बहुत ही अच्छी चीज होती है, इससे गुणवत्ता बढ़ती है. लेकिन जीवन के छोटी छोटी चीजों में भी अगर प्रतिस्पर्धा बढ़ने लगे तो इसका नकरात्मक रूप ले लेता है और सामाजिक तनाव बढ़ने लगता है. भारत में कुछ ऐसा ही हो रहा है, यहाँ आज छोटी छोटी चीजों में प्रत्स्पर्धा होने लगी है चाहे एक छोटी सी नौकरी हो या एक किराने की दुकान यहाँ तक की मंदिर में पुजारियों के बिच भी प्रतिस्पर्धा बढ़ने लगा है. ऐसी छोटी छोटी प्रतिस्पर्धा गृहयुद्ध पहला लक्षण है. भारत में ऐसी प्रतिस्पर्धा की वजह बढ़ती आबादी है.

About Author

Leave a Reply