July 22, 2024

आग़ा हश्र कश्मीरी का जन्म वर्ष १८७९ ई. कश्मीर के खूबसूरत वादियों में हुआ था, मगर वे वाराणसी आने के पश्चात वाराणसी के होकर रह गए। वे प्रसिद्ध उर्दू-साहित्यकार थे।

आग़ा हश्र कश्मीरी पारसी नाटक कम्पनियों के युग के प्रसिद्ध नाटककार थे।। जैसा की ऊपर कहा गया है मूलतः आग़ा हश्र कश्मीरी उर्दू-साहित्यकार थे परंतु हिन्दी में ‘सीता-बनवास’, ‘भीष्म-प्रतिज्ञा’ ‘श्रवणकुमार’ इत्यादि नाटक भी उन्होंने लिखे जिनमें हिन्दू धर्म-संस्कृति का चित्रण है।

About Author

1 thought on “आग़ा हश्र कश्मीरी

Leave a Reply