Category: हरा भारत हरा गाँव

धनतेरस

ॐ धन्वंतरये नमः॥ धनवंतरी भगवान विष्णु के अंश अवतार हैं। उन्हें आयुर्वेद का प्रवर्तक कहा जाता है। इनका पृथ्वी लोक पर अवतरण समुद्र मंथन के समय हुआ था। शरद पूर्णिमा को चंद्रमा, कार्तिक...

चंद्रघंटा

पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता || माँ दुर्गा की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है। नवरात्रि उपासना में तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के...

शैलपुत्री

  वन्दे वंछितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम् | वृषारूढाम् शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम् || शैलपुत्री देवी दुर्गा के नौ रूप में पहले स्वरूप में जानी जाती हैं। ये ही नवदुर्गाओं में प्रथम दुर्गा हैं। पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री...

नवदुर्गा

नवदुर्गा माता दुर्गा अथवा पार्वती के नौ रूपों को एक साथ कहा जाता है। इन नवों दुर्गा को पापों की विनाशिनी कहा जाता है, हर देवी के अलग अलग वाहन हैं, अस्त्र...

काशी के घाट

वाराणसी अथवा काशी को घाटों की नगरी भी कहा जाता है। जहां वास्तविक तौर पर ८९ घाट हैं, मगर औपचारिक तौर पर ८४ घाट ही कहे जाते हैं। ये घाट लगभग ४...

मणिकर्णिका घाट

फाल्गुन का महीना हो और रंगों की बात हो तो इनमें शिव की बात ना हो यह कैसे संभव है। क्यूंकि शिव ने भी खेला है होली और क्या खूब खेला है।...

गुड़हल

जवाकुसुम एक खुबसूरत फूलों वाला पौधा है। इसे गुड़हल भी कहा जाता है। आपको यह जानकर बेहद आश्चर्य होगा की गुड़हल के परिवार के अन्य सदस्यों में कोको, कपास, भिंडी और गोरक्षी...

लेखक का जनम

पहले जब लोग मुझसे पूछते थे! की तुम क्या करते हो? तो मैं बगल झांकने लगता था, क्या कहूँ ? क्या ना कहूँ ? कुछ समझ में नहीं आता था।...

Follow us

22,044FansLike
2,506FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Instagram

Most Popular

पंचगंगा घाट

काशी की बसावट के लिहाज से शहर के उत्तरी छोर से गंगा की विपरीत धारा की ओर चलें तो आदिकेशव घाट व राजघाट के...

आदिकेशव घाट

काशी में गंगा तट पर अनेक सुंदर घाट बने हैं, ये सभी घाट किसी न किसी पौराणिक या धार्मिक कथा से संबंधित हैं। काशी...

मामा जी की स्मृति से

अपने बेटों से परेशान होकर एक महोदय कैंट स्टेशन के एक बैंच पर सोए हुए थे। उन्हें कहीं जाना था, मगर कहां यह उन्हें...