Category: साहित्य

कबीर दास

भजो रे भैया राम गोविंद हरी। राम गोविंद हरी भजो रे भैया राम गोविंद हरी।। जप तप साधन नहिं कछु लागत, खरचत नहिं गठरी।। संतत संपत सुख के कारन, जासे भूल परी।। कहत कबीर राम नहीं...

वामन देव

महर्षि कश्यप की पहली पत्नी अदिति से उत्पन्न हुए पुत्रों को आदित्य कहा जाता है, ये बारह हैं। इंद्र (देवताओं के राजा), विवस्वान् (सूर्य देव), पर्जन्य (मेघों के नियंत्रक), त्वष्टा (सूर्य को...

संत रैदास

रविदास अथवा रैदास मध्यकालीन भारत के महान संत थे। इन्हें सतगुरु अथवा जगतगुरु की उपाधि दी जाती है। इन्होने रैदासिया अथवा रविदासिया पंथ की स्थापना की और इनके रचे गये कुछ भजन...

पतञ्जलि

पतंजलि (पतञ्जलि) प्राचीन भारत के एक मुनि और नागों के राजा शेषनाग के अवतार थे, जिन्होंने संस्कृत के अनेक महत्वपूर्ण ग्रन्थों की रचना की थी। इनमें से योगसूत्र उनकी महानतम रचना है...

गौतम बुद्ध

बुद्ध को गौतम बुद्ध, महात्मा बुद्ध आदि नामों से जाना जाता है। वे संसार के प्रसिद्धतम धर्मों में से एक बौद्ध धर्म के संस्थापक हैं, जो भारतीय श्रमण परम्परा से निकला एक...

महर्षि अगस्त्य

महर्षि अगस्त्य वैदिक ॠषि तथा महर्षि वशिष्ठ के बड़े भाई थे। महर्षि अगस्त्य की पत्नी लोपामुद्रा विदर्भ देश की राजकुमारी थीं। महर्षि को सप्तर्षियों में से एक माना जाता है। देवताओं के...

राधा रानी जन्म कथा…

नमस्त्रैलोक्यजननि प्रसीद करुणार्णवे। ब्रह्मविष्ण्वादिभिर्देवैर्वन्द्यमान पदाम्बुजे।। जन्म कथा प्रथम... जैसा कि हमने राधा जी पर आधारित प्रथम आलेख में पद्मपुराण की एक कथा को दर्शाया है कि श्री वृषभानुजी द्वारा यज्ञ भूमि साफ करते समय उन्हें...

राधा रानी

राधा रानी भगवान श्रीकृष्ण की प्राणसखी, उपासिका और वृषभानु नामक गोप की पुत्री थीं, जिनका जन्म भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि दिन शुक्रवार को हुआ था। राधा रानी जी की...

Follow us

22,044FansLike
2,506FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Instagram

Most Popular

पंचगंगा घाट

काशी की बसावट के लिहाज से शहर के उत्तरी छोर से गंगा की विपरीत धारा की ओर चलें तो आदिकेशव घाट व राजघाट के...

आदिकेशव घाट

काशी में गंगा तट पर अनेक सुंदर घाट बने हैं, ये सभी घाट किसी न किसी पौराणिक या धार्मिक कथा से संबंधित हैं। काशी...

मामा जी की स्मृति से

अपने बेटों से परेशान होकर एक महोदय कैंट स्टेशन के एक बैंच पर सोए हुए थे। उन्हें कहीं जाना था, मगर कहां यह उन्हें...