Warning: Undefined variable $iGLBd in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/default-constants.php on line 1

Warning: Undefined variable $YEMfUnX in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/media.php on line 1

Warning: Undefined variable $sbgxtbRQr in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-post-types-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $CfCRw in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-block-types-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $WvtsoW in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-plugins-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $dKVNqScV in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/class-wp-block-type.php on line 1

Warning: Undefined variable $RCQog in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/fonts/class-wp-font-face.php on line 1
काशी के घाट – शूट२पेन
February 29, 2024

वाराणसी अथवा काशी को घाटों की नगरी भी कहा जाता है। जहां वास्तविक तौर पर ८९ घाट हैं, मगर औपचारिक तौर पर ८४ घाट ही कहे जाते हैं। ये घाट लगभग ४ मील लम्‍बे तट पर बने हुए हैं। इन घाटों में पाँच घाट बहुत ही पवित्र माने जाते हैं। इन्‍हें सामूहिक रूप से ‘पंचतीर्थ’ कहा जाता है। ये हैं असी घाट, दशाश्वमेध घाट, आदिकेशव घाट, पंचगंगा घाट तथा मणिकर्णिका घाट। असी घाट सबसे दक्षिण में स्थित है जबकि आदिकेशव घाट सबसे उत्तर में स्थित हैं। हर घाट की अपनी अलग-अलग कहानी है। वाराणसी के कई घाट मराठा साम्राज्य के अधीनस्थ काल में बनवाये गए थे। वाराणसी के संरक्षकों में मराठा, शिंदे (सिंधिया), होल्कर, भोंसले और पेशवा परिवार रहे हैं। वाराणसी में अधिकतर घाट स्नान-घाट हैं, कुछ घाट अन्त्येष्टि घाट हैं। महानिर्वाणी घाट में महात्‍मा बुद्ध ने स्‍नान किया था। मणिकर्णिका घाट जैसे कुछ घाट किसी कथा आदि से जुड़े हुए हैं, जबकि कुछ घाट निजी स्वामित्व के भी हैं पूर्व काशी नरेश का शिवाला घाट और काली घाट निजी संपदा हैं।

घाटों की सूची…

हम काशी के इन घाटों को उनके स्थान के अनुसार आरोही क्रम में सूचीबद्ध कर रहे हैं, जो इस प्रकार से हैं।

भाग १: अस्सी घाट से प्रयाग घाट तक (१-४१)

१. अस्सी घाट,
२. गंगा महल घाट,
३. रीवा घाट,
४. तुलसी घाट,
५. भदैनी घाट,
६. जानकी घाट,
७. माता आनंदमाई,
८. बच्चा राजा घाट,
९. जैन घाट,
१०. निषाद घाट,
११. प्रभु घाट,
१२. पंचकोटा घाट,
१३. चेत सिंह घाट,
१४. निरंजनी घाट ,
१५. महानिर्वाणी घाट,
१६. शिवाला घाट,
१७. गुलरिया घाट,
१८. दंडी घाट,
१९. हनुमान घाट,
२०. प्राचीन हनुमान घाट,
२१. कर्नाटका घाट,
२२. हरिश्चंद्र घाट,
२३. लाली घाट,
२४. विजयनगरम घाट,
२५. केदार घाट,
२६. चौकी घाट,
२७. सोमेश्वर घाट,
२८. मानसरोवर घाट,
२९. नारद घाट ,
३०. राजा घाट,
३१. खोरी घाट,
३२. पांडे घाट,
३३. सर्वेश्वर घाट,
३४. दिग्पतिया घाट,
३५. कस्ती घाट,
३६. राणा महल घाट,
३७. दरभंगा घाट,
३८. मुंशी घाट,
३९. अहिल्याबाई घाट,
४०. शीतला घाट,
४१. दशाश्वमेध घाट।

भाग २: प्रयाग – आदि केशव घाट (४२–८४)

४२. प्रयाग घाट,
४३. राजेंद्र प्रसाद घाट,
४४. मन्मन्दिर घाट,
४५. त्रिपुर भैरवी घाट ,
४६. मीर घाट,
४७. नया घाट,
४८. नेपाली घाट ,
४९. ललिता घाट,
५०. बावली/उमरगिरी/अमरोहा घाट,
५१. जलासें घाट,
५२. खिड़की घाट,
५३. मणिकर्णिका घाट,
५४. बाजीराव घाट,
५५. सिंधिया घाट,
५६. संकठा घाट ,
५७. गंगा महल घाट(II),
५८. भोंसले घाट ,
५९. नया घाट,
६०. गणेशा घाट,
६१. मेहता घाट,
६२. राम घाट,
६३. यात्रा/यत्र घाट,
६४. ग्वालियर राजा घाट,
६५. मंगला गौरी घाट,
६६. बेनीमाधव घाट ,
६७. पंचगंगा घाट,
६८. दुर्गा घाट,
६९. ब्रह्मा घाट,
७०. बूंदी परकोटा घाट,
७१. आदि शीतला घाट,
७२. लाल घाट,
७३. हनुमानगढ़ी घाट,
७४. गया/गाय घाट,
७५. बद्रीनारायण घाट,
७६. त्रिलोचन घाट,
७७. गोला घाट,
७८. नंदेश्वर /नंदू घाट,
७९. शक घाट,
८०. तेलिया नाला घाट,
८१. नया/ फूटा घाट,
८२. प्रहलाद घाट,
८३. राजा घाट,
८४. आदि केशव घाट,
८५. संत रविदास घाट,
८६. निषाद घाट,
८७. रानी घाट,
८८. श्री पंचअग्नि अखाड़ा घाट,
८९. अन्य कोई।

काशी के घाट भाग – २

काशी के मंदिर

About Author

1 thought on “काशी के घाट

Leave a Reply