June 25, 2024

आपने लोकप्रिय जादू का शो ‘इंद्रजाल’ का नाम तो सुना ही होगा। यह वही शो था, जिसमे पहली बार लोगों ने लड़की को हवा में बिना किसी सहारे के लटका हुआ देखा था। इतना ही नहीं, इस शो में ही पहली बार लोगों ने उड़ने वाली कालीन का जादू भी देखा था। तो क्या आप जानते हैं कि इस जादू के शो की शुरुआत किसने की थी। जी हां! सही पहचाना आपने, वो थे पद्मश्री (भारत सरकार) तथा स्फिंक्स (ऑस्कर ऑफ मैजिक, अमेरिका) आदि जैसे पुरस्कारों से सम्मानित महान जादूगर ‘पी.सी. सरकार’। आईए आज हम आपको देश के महानतम जादूगरों में से एक पी.सी. सरकार से परिचय करवाते हैं…

परिचय…

पी.सी. सरकार का जन्म २३ फरवरी, १९१३ को बंगाल के तंगैल में हुआ था। उनका पूरा नाम प्रोतुल चंद्र सोरकर था। बांगला में सरकार को सोरकर कहते हैं। श्री सरकार का विवाह बसंती देवी के साथ हुआ था, जिनसे उन्हें एनिमेटर, निर्देशक और लेजरिस्ट मानिक सरकार, पी.सी. सरकार जूनियर और पी.सी. सरकार यंग जैसे लायक संतान की प्राप्ति हुई।

जादू…

किन्हीं जमाने में पी.सी. सरकार के जादू का शो ‘इंद्रजाल’ काफी लोकप्रिय हुआ करता था। श्री सरकार वर्ष १९३० में तब चर्चा में आए, जब उन्होंने कलकत्ता और जापान में शो करने आरंभ किए। वर्ष १९६४ में लोगों ने जब उनका लड़की को हवा में लटका देने का जादू देखा तभी से उनकी प्रसिद्धि काफी बढ़ गई। वैसे श्री सरकार अपने परिवार में जादूगरी करने वाले पहले व्यक्ति नहीं थे, यह जादू का करतब दिखाने की परंपरा उनसे पहले की सात पीढ़ियों से चली आ रही थी। उनके कई नामचीन करतबों में उड़ने वाली कालीन का जादू भी शामिल था।

पुरस्कार और सम्मान…

१. ‘जदुसमरत पी.सी. सरकार सारणी’ भारत सरकार ने उनके नाम पर कलकत्ता की एक प्रमुख सड़क का नाम रखा है।
२. २६ जनवरी, १९६४ को भारत के राष्ट्रपति द्वारा उन्हे पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया गया।
३. वर्ष १९४६ व वर्ष १९५४ में दो बार स्फिंक्स (ऑस्कर ऑफ मैजिक), यूएस।
४. द रॉयल मेडेलियन, जर्मन मैजिक सर्कल।
५. २३ फरवरी, २०१० को उन्हें सम्मानित करने के लिए ५ रुपए का डाक टिकट, भारतीय डाक द्वारा जारी किया गया, आदि।

पुस्तकें…

१. आपके लिए जादू (१९६५)
२. आपके लिए अधिक जादू (१९६५)
३. जादू का इतिहास (१९७०)
४. इंडियन मैजिक (१९८३, मृत्यु के बाद)

अंत में…

६ जनवरी, १९७१ को जापान के होक्काइदो अंतर्गत असाहिकावा से मात्र ५७ वर्ष की आयु में दिल का दौरा पड़ने के कारण महान जादूगर पी.सी. सरकार अनंत की यात्रा पर निकल गए।

About Author

Leave a Reply