Warning: Undefined variable $iGLBd in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/default-constants.php on line 1

Warning: Undefined variable $YEMfUnX in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/media.php on line 1

Warning: Undefined variable $sbgxtbRQr in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-post-types-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $CfCRw in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-block-types-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $WvtsoW in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-plugins-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $dKVNqScV in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/class-wp-block-type.php on line 1

Warning: Undefined variable $RCQog in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/fonts/class-wp-font-face.php on line 1
ऋषि सुनक – शूट२पेन
February 29, 2024

गर्व की बात है, एक भारतवंशी यूनाइटेड किंगडम का प्रधानमंत्री बन गया। क्या आप जानते हैं? जी हां! ऋषि सुनक २५ अक्टूबर, २०२२ को यूनाइटेड किंगडम के प्रधानमंत्री बन गए हैं।

परिचय…

ऋषि सुनक का जन्म १२ मई, १९८० को इंग्लैंड के हैम्पशायर अंतर्गत साउथैम्प्टन के रहने वाले श्री यशवीर सुनक जी और माता श्रीमती उषा सुनक जी के घर में हुआ था। श्री सुनक जी अपने तीनों भाई बहनों में सबसे बड़े हैं। उनके दादा-दादी ब्रिटिश इंडिया के पंजाब प्रांत के रहने वाले थे, जो आज़ादी के बाद नए·नए बने पाकिस्तान से आजाद भारत आने के बजाय पूर्वी अफ्रीका में जा कर बस गए, जहां से वर्ष १९६० के दशक में अपने बच्चों के साथ यूके चले गए थे। श्री सुनक ने अगस्त २००९ में इंफोसिस के संस्थापक, एन.आर. नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता मूर्ति से शादी की, जिनसे उनकी मुलाकात पढ़ाई के दौरान स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में हुई थी। उनसे उन्हें दो पुत्रियों के पिता बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।

शिक्षा…

ऋषि की पढ़ाई विनचेस्टर कॉलेज से हुई। उसके बाद उन्होंने स्नातक की पढ़ाई ऑक्सफोर्ड के लिंकन कॉलेज से दर्शन शास्त्र, राजनीति शास्त्र और अर्थशास्त्र में फर्स्ट क्लास, फर्स्ट के साथ पास की, तथा वर्ष २००६ में उन्होंने एमबीए की डिग्री स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से प्राप्त की।

राजनैतिक जीवन…

ऋषि सुनक वर्ष २०१५ में पहली बार संसद यॉर्कशर के रिचमंड से सांसद बने। यह वह समय था, जब ब्रेग्जिट का समर्थन उनके साथ बढ़ा, जिससे पार्टी में उनका कद लगातार बढ़ने लग गया।

ऋषि सुनक ने तत्कालीन ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे की सरकार के संसदीय अवर सचिव के रूप में कार्य किया। थेरेसा मे के इस्तीफा देने के बाद, सनक ने बोरिस जॉनसन के कंजरवेटिव नेता बनने के अभियान का समर्थक किया। जॉनसन ने प्रधान मंत्री नियुक्त होने के बाद, सनक को ट्रेजरी का मुख्य सचिव नियुक्त किया गया। चांसलर के रूप में, सुनक ने यूनाइटेड किंगडम में कोविड-१९ महामारी के आर्थिक प्रभाव के मद्देनजर सरकार की आर्थिक नीति पर प्रमुखता से काम किया।

५ जुलाई, २०२२ को अपने त्याग पत्र में जॉनसन के साथ अपनी आर्थिक नीति के मतभेदों का हवाला देते हुए सुनक ने चांसलर के पद से इस्तीफा दे दिया। श्री सुनक के साथ स्वास्थ्य सचिव जाविद ने भी इस्तीफा दे दिया, जिससे एक सरकारी संकट उत्पन्न हो गया, जो जॉनसन के प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे का कारण बना।

विवाद…

ब्रिटेन के जिस पार्टीगेट स्कैंडल की वजह से बोरिस जॉनसन की बेहद किरकिरी हुई थी, जिसकी आंच ऋषि पर भी पड़ी। उनपर भी पार्टीगेट स्कैंडल का अर्थदण्ड लगाया गया। उन्हें फिक्स्ड पेनल्टी नोटिस जारी किया गया था। इस पार्टी की तस्वीरें और कुछ ईमेल लीक होने के पश्चात मामला गरमा गया था। यह ऐसी घटना थी, जिसके पश्चात सुनक की लोकप्रियता में गिरावट आने लगी।

एक विवाद उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति के साथ भी हुआ। हुआ यह कि ऋषि सुनक की पत्नी की संपत्ति क्वीन एलिजाबेथ से भी ज्यादा थी। इसके पीछे का कारण सभी जानते हैं, अक्षता मूर्ति भारत के दिग्गज कारोबारी व इंफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति की बेटी हैं। उनका इन्फोसिस में शेयर है। ऐसे में सिर्फ डिविडेंट से उनकी हर साल अरबों की कमाई होती है, जो अंग्रजों को पच नहीं रहा था। पहली बर जब सुनक चुनाव लड़ रहे थे तब से ही उनकी पत्नी की कमाई को लेकर विवाद हो रहा था। साल २०२२ में उनको इन्फोसिस के शेयर से १२६.६१ करोड़ रुपये का लाभ मिला। कंपनी में उनका ०.९३ पर्सेंट का शेयर है। मंगलवार को शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक अक्षता मूर्ति के शेयरों की कीमत ५,९५६ करोड़ रुपये है।

प्रधानमंत्री…

ब्रिटेन में कुल सांसदों की संख्या ३५७ है, जबकि प्रधानमंत्री बनने के लिए १०० सांसदों का समर्थन होना जरूरी होता है। ये ३५७ सांसद उम्मीदवार को ऑनलाइन वोटिंग करके पार्टी लीडर और प्रधानमंत्री चुनते हैं, जिसमें श्री सुनक के पक्ष में २०० सांसदों ने वोट दिया। वहीं पेनी मॉरडॉन्ट को सिर्फ २६ सांसदों का ही समर्थन मिल पाया।

दिलचस्प तथ्य…

१. ऋषि सुनक ने संसद में भगवद गीता पर यॉर्कशायर से सांसद के रूप में शपथ ली। ऐसा करने वाले वह ब्रिटेन के पहले सांसद थे।

२. बोरिस जॉनसन के नेतृत्व में राजकोष के चांसलर के रूप में, ऋषि सुनक ने डाउनिंग स्ट्रीट पर अपने आवास पर दिवाली के दीये जलाए।

३. ऋषि सुनक अक्सर अपनी विरासत के बारे में बात करते हैं और यह बताते हैं कि कैसे उनके परिवार ने उन्हें हिंदू धर्म के मूल्यों और संस्कृति के बारे में बताया है।

४. ऋषि सुनक अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ लेकर अक्सर अपने ससुराल वालों से मिलने बेंगलुरु आते रहते हैं, जो उन्हें भारत से जोड़े रहता है।

५. ऋषि ने एक बयान साझा किया था कि श्रीमद् भागवत गीता तनावपूर्ण स्थितियों के दौरान उन्हें बचाती है और उन्हें कर्तव्यपरायण होने की याद दिलाती है।

६. ऋषि सुनक की कुल संपत्ति ७०० मिलियन पाउंड यानी तकरीबन ६७ अरब रुपए से कहीं अधिक है। यॉर्कशायर में एक हवेली के मालिक होने के अलावा, ऋषि और उनकी पत्नी अक्षता के पास मध्य लंदन के केंसिंग्टन में भी एक संपत्ति है।

७. फिट रहने के लिए ऋषि सुनक क्रिकेट खेलना पसंद करते हैं।

About Author

Leave a Reply