Warning: Undefined variable $iGLBd in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/default-constants.php on line 1

Warning: Undefined variable $YEMfUnX in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/media.php on line 1

Warning: Undefined variable $sbgxtbRQr in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-post-types-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $CfCRw in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-block-types-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $WvtsoW in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/rest-api/endpoints/class-wp-rest-plugins-controller.php on line 1

Warning: Undefined variable $dKVNqScV in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/class-wp-block-type.php on line 1

Warning: Undefined variable $RCQog in /home/shoot2pen.in/public_html/wp-includes/fonts/class-wp-font-face.php on line 1
अंबुलाल बालकृष्ण पुरानी – शूट२पेन
February 29, 2024

अंबुलाल बालकृष्ण पुरानी का जन्म २६ मई, १८९४ को सूरत में हुआ था। वे प्रखर राष्ट्रवादी विचारधारा के व्यक्ति थे। वर्ष १९२३ में वे श्री अरबिंदो द्वारा पूरी तरह से आश्वस्त होने पर की उन्हें भारत की स्वतंत्रता के बारे में चिंता करने की बिल्कुल जरूरत महसूस नहीं होगी, क्योंकि उसे एक दिन आना ही है और उसका समय भी निश्चित है। इस प्रण के साथ वे श्री अरबिंदो के आश्रम में शामिल हो गए। वे १९३८ से लेकर १९५० तक श्री अरबिंदो के निजी सहायक रहे।

अगर उनके काम के बारे में कहा जाए तो, विशेष रूप से श्री अरबिंदो की जीवनी को समझना और उसके लिए श्री अरबिंदो के साथ शाम की वार्ता करना, तत्पश्चात उन बातों से मिले तथ्यो को आधार बनाकर श्री अरबिंदो की जीवनी लिखना। उन्होंने श्री अरबिंदो के योग शिक्षण पर व्याख्यान देने के लिए बड़े पैमाने पर यात्रा की, १९६२ में संयुक्त राज्य अमेरिका का दौरा किया। उनके कुछ व्याख्यान, पुस्तक के रूप में आज भी उपलब्ध हैं।जिनमें सावित्री और लाइफ डिवाइन जैसे प्रमुख कार्य शामिल हैं।

उनकी एक पुस्तक ‘शाम की वार्ता’ श्री अरबिंदो के व्यक्तित्व और उनके बहुमुखी ज्ञान पर एक चमत्कृत प्रकाश डालती है। उनकी एक अलग तरह की पुस्तक ‘सावित्री पर व्याख्यान’ महान पौराणिक महाकाव्य सावित्री के बारे में अपने संक्षिप्त विचार प्रदान करती है। उन्होंने मणिलाल द्विवेदी की जीवनी भी लिखी है, जिसका नाम ‘मणिलाल द्विवेन्दु जीवनचरित्र’ जो १९५१ में प्रकाशित हुई थी।

अंबुलाल बालकृष्ण पुरानी जी की कुछ पुस्तको के नाम, जो अंग्रेजी भाषा में लिखी गई हैं…

१. श्री अरबिंदो का जीवन
स्थान : पॉन्डिचेरी: श्री अरबिंदो आश्रम।
प्रकाशन वर्ष : १९५८

२. श्री अरबिंदो के साथ शाम की बातचीत
स्थान : पॉन्डिचेरी: श्री अरबिंदो आश्रम,
प्रकाशन वर्ष : 1959

३. सावित्री पर व्याख्यान : संयुक्त राज्य अमेरिका में दिए गए व्याख्यान।
स्थान : पॉन्डिचेरी: श्री अरबिंदो आश्रम,
प्रकाशन वर्ष : १९६७

About Author

Leave a Reply